Improve your Communication Skills in Hindi | संचार कौशल में सुधार कैसे करें

Improve your Communication Skills in Hindi | संचार कौशल में सुधार कैसे करें

कम्युनिकेशन स्किल्स क्यों ज़रूरी होती हैं

दोस्तो, आज हम बात करेंगे कि कैसे आप अपनी communication skills improve करके किसी को भी अपनी बातों से प्रभावित और आकर्षित कर सकते हो.

हाल ही में किये गए एक सर्वे के अनुसार एक लीडर की सबसे अच्छी खूबी उसकी कम्युनिकेशन स्किल्स होती हैं. Amazon और Apple जैसी कंपनिया अपने वर्कर्स को स्पेशल कम्युनिकेशन ट्रेनिंग्स दिलवाती हैं और यही उनकी सफलता का राज़ भी है.

दुनिया की सारी कलाएं सारे हुनर एक तरफ और बोलने की कला एक तरफ. अगर आप बोलने की कला सीख गये तो दुनिया की हर कामयाबी और हर जीत आप हासिल कर लोगे.

आप चाहे किसी भी क्षेत्र में काम करते हो चाहे जॉब करते हो, चाहे बिज़नेस करते हो और चाहे किसी रिलेशनशिप में हो, अगर आपकी कम्युनिकेशन स्किल्स बेहतर होगी तो आप जिंदगी में उतना ही सफल बनोगे.

बचपन से  ही हमारे दिमाग में यह बात डाल दी गई है कि कम्युनिकेशन स्किल्स को बेहतर करते के लिए अंग्रेजी आना बहुत जरूरी है, लेकिन अंग्रेजी सिर्फ एक भाषा है और कम्युनिकेशन स्किल्स एक कला है एक हुनर है.

यह जरूरी नहीं कि जिसे अंग्रेजी भाषा आती हो उसे बोलना भी आता हो. भाषा और बोलने का कला, ये दोनों अलग अलग चीजें हैं. इसलिए आप निर्णय कर लीजिये कि आप को कोन सी भाषा में कम्युनिकेशन स्किल्स सीखनी है.

मैं तो बोलूँगा कि सबसे पहले आप अपनी मात्र भाषा में ही कम्युनिकेशन स्किल्स सीखिए.

कम्युनिकेशन स्किल कैसे सीखें

जैसे आप अपने muscles को विकसित करते हैं और वर्कआउट करके उन्हने मज़बूत बनाते हैं, वैसे ही बोलने की कला को आपको हर दिन सीख कर बेहतर बनाना पड़ेगा.

बोलने की इस कला को सिर्फ कुछ पढ़ कर या सुन कर ही नहीं निखारा जा सकता बल्कि जितना आप इस पर काम करेंगे मेहनत करेंगे, आपकी यह कला उतनी ही बेहतर होती जाएगी.

जैसे आप सब  को पता है कि जीवन का एक नियम है एक रूल है कि आपको जो भी हासिल करना चाहते हो उसके लिए आपको कुछ न कुछ कीमत अदा जरुर करनी पडती है.

लेकिन यहाँ जिंदगी को बेहतर बनाने की इम्रूव करने की बात है, तो सिर्फ पैसों से काम नहीं बनेगा. अगर आपको एक अच्छी, स्वस्थ और तंदरुस्त बॉडी चाहिए तो इसके लिए आप को खुद मेहनत करनी होगी, खुद एक्सरसाइज करनी होगी.

आपको खुद अपनी डाइट का घ्यान रखना होगा, कोई और आपके लिए मेहनत नहीं कर सकता.

जानिये Communication skills improve करने के बेसिक तरीके

एक सर्वे के अनुसार 55% लोग बोलने वाले के हाव भाव से ज्यादा प्रभावित होकर उसकी बातों पर विश्वास करता है.

कम्युनिकेशन स्किल्स का एक महत्वपूर्ण भाग होता है Hand Gestures; कम्युनिकेशन करते समय बोलने वाले के चेहरे पर स्माइल और हाथों के gestures बहुत मायने रखते हैं.

स्पष्ट और आत्मविश्वास से communications करने के लिए, उचित posture अपनाएं। अपने हाथों को फोल्ड करने से बचें और तो और eye contact बनाये रखना भी संचार करने का सबसे अच्छा तरीका माना जाता है.

Visual displays का सबसे कम उपयोग करें

Powerpoint presentation दिखाना आजकल बहुत पोपुलर है, पर पॉवरपॉइंट को ही अपने संचार का आधार बनाना नहीं चाहिए. ज्यादातर लोग पॉवरपॉइंट को समझाते समय मौखिक संवाद (verbal communication) को ज्यादा महत्व देते हैं.

क्योंकि कंप्यूटर में बने powerpoint presentation से ज्यादा लोग बोलने वाले के शब्दों और आत्मविश्वास से ज्यादा प्रभावित होते हैं|

 श्रोताओं का ईमानदार फीडबैक जाने

communication skills in hindi

प्रेजेंटेशन या भाषण ख़तम होते ही श्रोताओं का फीडबैक जानना अच्छे वक्ता की निशानी हैं.

ज्यादातर स्पीकर्स अपना प्रेजेंटेशन ख़तम होते ही प्रेजेंटेशन के बारे में छोटा सा फॉर्म भरवाते है जिसमे कई तरह के सवाल होते हैं.

यह communication skills improve करने का सबसे अच्छा तरीका है जो स्पीकर्स को आलोचना सुनने की आदत डलवाता है.

 श्रोताओं के interest को बनाये रखना

चाहे कितना भी अच्छा वक्ता क्यों न हो अगर वह सिर्फ बोलता रहे या समझाता रहे तो कुछ समय बाद ऑडियंस उसमें अपना interest खो देती है.

इसलिए ऑडियंस को सिर्फ सुनने के अलावा अगर अपना दृष्टिकोण रखने का मौका मिले. या तो सवाल करने का मौका दिया जाए तो वह प्रेजेंटेशन कम और 1 to 1 interaction ज्यादा लगता है, जो दर्शकों से कनेक्ट करने का सबसे अच्छा तरीका होता है.

Key points और agenda क्लियर रखे

प्रेजेंटेशन देते समय अपने मुद्दे से भटक जाना आम बात है, ख़ास कर के जब हम बिना किसी पॉवरपॉइंट या written points के साथ प्रेजेंटेशन दे रहे हो.

संचार को प्रभावशाली और productive बनाये रखने के लिए के उस विषय का उद्देश्य और एजेंडा साफ रखना चाहिए.

प्रेजेंटेशन देने का हेतु अगर दर्शकों को समझ नहीं आता है तो वह प्रेजेंटेशन कुछ काम का नहीं रह जाता।

इसिलए संचार करने का एजेंडा बहुत अच्छे से ऑडियंस को समझ आये और वह वक्ता की बात को माने उस तरह से प्रेजेंटेशन को ख़तम करना चाहिए।

अच्छे रोल मॉडल्स चुनिए

communication skills in hindi

आप अपने जिंदगी में अच्छे और बेहतरीन रोल मॉडल्स जैसे अच्छे वक्ता, न्यूज़ रिपोर्ट्स, पत्रकार चुनिए. उनको सुनिए और ध्यान से देखिये कि कैसे वो अपनी बोलने की कला से लाखों लोगों को कितना प्रभावित करते हैं, जिससे लोग उनसे जुड़े रहते हैं.

उनकी आवाज की टोन को सुनिए, उनकी बॉडी language को देखिये, उनके हाथो की मूवमेंट्स पर गौर करिए. बात करते करते उनके देखने का अंदाज़, ये सब चीजें सीखिए.

क्योंकि सिर्फ शब्दों के सीख लेने से आप बोलने के कला को नहीं सीख पाएंगे, उसके साथ साथ आपको ये सारी बातें भी सीखनी पड़ेंगी.

 अपने presentation को रिकॉर्ड करें

communication skills in hindi

अपने भाषण रिकॉर्ड करने के दो फायदे हैं, पहला – आप उसको अपने श्रोताओं को भविष्य में देखने के लिए दे सकते हैं और दूसरा आप खुद का संचार और ऑडियंस के प्रतिभाव भी देख सकते हैं.

कम्युनिकेशन बेहतर  करने के लिए आप को अपने पिछले संचार को अवलोकन करना और अपनी गलतियों को समझना बहुत जरुरी हैं।

इसके कारण आप आने वाले समय में अच्छे से संवाद कर सकते हैं और अपनी गलतियां भी सुधार सकते है। इससे आपको कम्युनिकेशन स्किल्स को निखारने मे और आत्मविश्वास बढ़ाने में भी मदद मिलती है।

ध्यान से सुनिए

communication skills in hindi

ज्यादातर लोग हमेशा बोलने पर ध्यान देते हैं, वो सिर्फ बोलना चाहते हैं, सुनना कोई नहीं चाहता. लेकिन अगर आपको अपनी कम्युनिकेशन स्किल्स बेहतर करनी है, इम्प्रूव करनी है तो तो आपको सुनने की कला भी सीखनी होगी.

आप किसी से बात कर रहे हों तो पहले उस की पूरी बात अच्छे से सुनिए और समझिये कि वो क्या कहना चाह रहा है उसकी जरूरत क्या है.

यदि अप उसे अच्छे से सुन क उसकी बात को समझेंगे तो आप उसको एकदम सही और बेहतर जवाब दे पाएंगे. जिससे सामने वाले व्यक्ति पर आप का बड़ा अच्छा प्रभाव पड़ेगा.

जिससे वो व्यक्ति बहुत अच्छा महसूस करेगा और आपके बीच एक अच्छा कनेक्शन बनेगा.

 समय का बेहतर उपयोग करें

एक अच्छे वक्ता की निशानी हे यह समझना की कोनसी बातों में ज्यादा टाइम दे और कोन सी बातों को श्रोताओं को खुदसे समझने के लिए छोड़ दे।

Communication skills को improve करने के लिए आपको यह समझना पड़ेगा के श्रोताओं के दिमाग में क्या चल रहा है और कोन सी चीज़ को ज्यादा देर तक समझाना है।

कुछ बातें श्रोताओं को खुद समझने देना और उनका supportive system बनना यह सबसे अच्छे communicator होना सिखाती हैं।

श्रोताओं के दिमाग को समझना

communication skills in hindi

एक अच्छा वक्ता बनने के लिए आपको समझना पड़ेगा की आपके श्रोता कौन हैं और उनकी समझने की शक्ति क्या है।

कई बार लोग अलग-अलग तरह के श्रोताओं के सामने अपनी बात रखते हे, चाहे वह स्कूल के बच्चे हो, कॉर्पोरेट ऑफिस के कर्मचारी हो या आम जनता हो.

यह समझना आवश्यक है कि आपकी ऑडियंस कौन सी भाषा समझेगी या कौन सा तरीका सही रहेगा अपनी बात समझाने का।

सवाल पूछना सीखिये

कई बार कम्युनिकेशन करना मतलब सिर्फ बोलना नहीं पर अच्छे प्रश्न पूछना भी होता है। यह भी हो सकता हे की आपकी ऑडियंस को अपनी समस्याएं ही ना पता हो फिर भी उनका हल ढूंढ रहे हो।

इस समय आपको सही प्रश्न पूछना और ऑडियंस खुद ही अपने जवाब ढूंढ ले, वैसे समाधान देना एक बेहतरीन communicator की निशानी है।

 प्रैक्टिस करते रहना

“Practice makes a man perfect”. अगर आपको अपनी बोलने की कला को मज़बूत करना है तो लगातार अभ्यास करते रहिये। ऑडियंस होना जरूरी नहीं है, कभी बिना ऑडियंस के भी आईने के सामने प्रैक्टिस करना सबसे आसान रहता हे।

एक ही चीज़ बार बार दोहराने से आत्मविश्वास बढ़ता हे और जब ऑडियंस के सामने संचार करने का मौका मिलता हे तो आप खुद से prepare रहते हे।

निष्कर्ष:

दोस्तो, अगर आप किसी सफल इंसान की बोलने की कला को देख के खुद का आत्मविश्वास खो देते हो और बोलते हो कि उसकी किस्मत अच्छी है तो एक बात समझ लो कि इस दुनिया में कोई भी इन्सान इस बोलने की कला को जन्म से ही सीख कर नहीं आता.

हर के इन्सान को यह कला सीखनी पडती है, खुद की मेहनत और लगन से.

कम्युनिकेशन इम्प्रूव करना कोई एक बार का काम नहीं है, यह एक ऐसी प्रोसेस है जो लाइफ टाइम चलती रहती है। आपकी ऑडियंस और ट्रेंड्स को फॉलो करते रहना सीखते रहना चाहिए।

संचार कौशल का कोई विशेषज्ञ नहीं होता, अपनी ऑडियंस को समझना और उनके समस्यायों का बेहतरीन समाधान देना ही एक अच्छे communicator की निशानी है।

दोस्तो, हमें उम्मीद है आपको हमारा यह आर्टिकल “how to improve communication skills in hindi” पसंद आया होगा, कमेंट करके जरुर बताएं, धन्यवाद !!

और पढ़ें:

9 thoughts on “Improve your Communication Skills in Hindi | संचार कौशल में सुधार कैसे करें”

Leave a Comment

%d bloggers like this: